विश्व डायबिटीज दिवस:इन बातो से आप अपनी लाइफ को बनाओ डायबिटीज फ्री

World Diabetes Day एक बहुत महत्वपूर्ण दिन है. आज हम आपको कुछ बातों से रु-ब-रु कराते हैं. बीमारी चाहे कोई भी हो छोटी या बड़ी पर हमारी ज़िन्दगी को खतरे में डाल देती है और हमारे चेहरे से हमारी मुस्कान ही छीन लेती है। जब बात आती है डायबिटीज की तो हम सहम जाते है, क्योकि मधुमेह है ही एक खतरनाक बीमारी। यह एक ऐसे बीमारी है जो लगातार अपने पैर पसार रही है। अब डायबिटीज और भी विकराल रूप लेती जा रही है। इसकी चपेट में कोई भी आ सकता है चाहे मैं हूँ या आप।
डरिये मत हमारा मकसद आपको डरना नहीं बल्कि आपको इस बीमारी से बचाना है। World Diabetes Day पर हम आपको बताएगे कि कैसे आप अपने और अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते है।
Read this interesting article on 14th November

World Diabetes Day 2017 Theme:

वर्ष 2017 की डायबेटिक थीम हैं ……. Women and diabetes – Our right to a healthy future

डायबिटीज से जुडी ये तथ्ये जो आप नहीं जानते होंगे:

  • आप जानते है कि वर्तमान समय में हर 5 में से 1 व्‍यक्‍ति मधुमेह की बीमारी से पीड़ित है।
  • मधुमेह ऐसी बीमारी है जो अधिकांशत: लोगों में अनुवांशि‍क होती है। यदि किसी परिवार में मधुमेह की बीमारी पहले से है तो उस परिवार में यह बीमारी पीढ़ी-दर-पीढ़ी बढ़ती जाती है।
  • डाईबिटीज की बीमारी मुख्य रूप से पीड़ित व्‍यक्‍ति के रक्त में ग्‍लूकोज की मात्रा ज्‍यादा होने के कारण होती है।
    ऐसा दो कारणों से होता है- पहला जब किसी व्‍यक्‍ति के शरीर में इंसुलिन का बनना बंद हो जाता है या व्‍यक्‍ति के शरीर की कोशिकाएं बन रही इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं करते।

डायबिटीज के प्रकार- हो गए ना हैरान? आपको शायद ही पता होगा की डायबिटीज भी कई तरह की होती है। इसके भी प्रकार होते है।डायबिटीज तीन तरह की होती है।

1 डायबिटीज– जब रोगी के शरीर में इंसुलिन बनना बंद हो जाती है। उस समय व्‍यक्ति को मानव निर्मित इंसुलिन का सहारा लेना पड़ता है। तब व्‍यक्ति को डाईबि‍टीज होती है।

2 टाइप 2 डायबिटीज–  जब रोगी के शरीर की कोशिकाएं उसके शरीर की इंसुलिन पर प्रतिक्रिया करना बंद कर देती हैं। उस स्‍थिति में भी व्‍यक्ति को मधुमेह जैसी बीमारी का सामना करना पड़ता है।

3 जसटेश्नल डायबिटीज– यह डाईबि‍टीज अक्सर गर्भवती महिलाओं को होती है। गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं द्वारा जो दवाएं ली जाती है।उन दवाओं के कारण महिलाओं के खून में ग्‍लूकोज की मात्रा बढ़ जाने के कारण वो इस बीमारी का शिकार हो जाती है।

डायबिटीज के लक्षण:

भूख और प्‍यास ज्‍यादा लगना।
अचानक वजन कम हो जाना।
चीजों का धुंधला दिखाई देना।
बार-बार पेशाब लगना।
सांस फूलना।
ज्‍यादा थकान महसूस होना।
शरीर में खुजली होना।
किसी भी घाव को ठीक होने में अधिक समय लगना।

डायबिटीज में इन चीजों से रखे दूरी:

1 आलूचावलशक्‍करमीठे फलकेलाकेकपेस्‍ट्रीघीमक्‍खनसमोसाकचौरीज्‍यादा तेल वाली चीजों का सेवन कम से कम करें।
2  जो लोग मांसाहारी होते हैउन्‍हें अंडेचिकनमटनमछलीचायकॉफीशराबधूम्रपान आदि का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए।

डायबिटीज में किन बातो का रखे ध्‍यान:

समय पर डायबिटीज की जांच अवश्‍य करवाएं।
बिना डाक्‍टर के सलाह लिएकिसी भी दवा का सेवन न करें।
परहेज का सख्ती से पालन करें।
व्‍यायाम और योग नियमित रुप से करते रहें।
भरपूर नींद लें।
सुबह टहलने अवश्‍य जाएं।

World Diabetes Day से जुडी दिलचस्प बातें:

 1 World Diabetes Day हर साल 14 नवम्बर को मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य दुनियाभर में डायबिटीज के प्रति जागरूकता बढ़ाना और इसे समाप्त करने की कोशिश करना है।

2 विश्व डायबिटीज दिवस इंटरनेशनल डायबिटीज फेडरेशन और विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा वर्ष 1991 में स्थापित किया गया।

3 विश्व डायबिटीज दिवस डॉ. फ्रेडरिक ग्रांट बैंटिंग के जन्म दिवस (14 नवंबर) के दिन मनाया जाता है। इनका जन्म 14 नवंबर, 1891 में कनाडा में हुआ था।

 आज World Diabetes Day पर हमने आपको बताया की किस तरह आप इन बातो को जीवन में उतारकरअपनी ज़िन्दगी को खुशहाल बना सकती है.