राष्ट्रीय एकता दिवस कविता

राष्ट्रीय एकता दिवस कविता!!राष्ट्रीय एकता दिवस कविता

राष्ट्रीय एकता दिवस कविता!! 31 अक्टूबर को देश में राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया जाता है. यह देश के लोह पुरुष के रूप में जाने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म जयंती के दिन मनाया जाता है. देश की केंद्रीय सरकार ने 2014 में इसकी शुरुआत की थी.
इस दिन को मनाने का मकसद देश के लोगों में एक दूसरे के प्रति एकता की भावना को उजागर करना है. चलिए पढ़ते हैं एक राष्ट्रीय एकता दिवस कविता…..

एलोवेरा के ये फायदे जानना भी जरूरी है

राष्ट्रीय एकता दिवस कविता:
इस राष्ट्र की एकता को हमेशा बनाए रखें
दिल में इस जज्बे को हमेशा जगाए रखें
एकता के परिवेश में, जब वह रूप हमने पाया
अपना भारत देश ही, सोने की चिड़िया कहलाया
भारत माता के सपूतों क्यों
एक दूसरे पर वार करते हो
क्यों देश की अखंडता को, तार तार करते हो
राष्ट्र के महापुरुषों ने, एकता का प्रचार किया था
सांप्रदायिक विचार का, बहिष्कार किया था
सब में प्रेम बांटना ही, अपनी पहचान होनी चाहिए
इसी धारणा की सभी के मन में
ऊंची आवाज होनी चाहिए
ईश्वर के बच्चों में भेद मत होने दीजिए
हर मजहब एक दिखें, सीख सब को दीजिए!!

आइए इस बार राष्ट्रीय एकता दिवस पर हम सब भी मिलकर भारत देश की एकता के लिए योगदान करते हैं.

  • आसपास के लोगों को राष्ट्रीय एकता दिवस के मौके पर जागरूक करें
  • आपसी मतभेदों को भुलाएं
  • परिवार को एकता की परिभाषा समझाए
  • जन-जन में प्रेम बांटने की कोशिश करें
  • सांप्रदायिक विचारों से अपना बचाव करें