राहुल गांधी की ज़िन्दगी का ये रूप शायद ही आपने देखा होगा

Rahul Gandhi Son of Rajiv Gandhi

राहुल गाँधी, नेहरु-गाँधी परिवार के वारिस है। हमेशा अपनी बातो और बयानों को लेकर लोगो के Trolls का शिकार होने वाले राहुल बहुत ही सादगी से जीवन जीना पसंद करते है। अक्सर उनके ऊपर बने Jokes पर हम हंसना पसंद करते है। पर आज जो उनके जीवन के बारे में हम आपको बताने जा रहे है वो राहुल को लेकर आपका नज़रिया बदल सकते है।

तो देर किस बात की चलिए जानते है उनके बारे में,

राहुल का जन्म:

 राहुल गांधी की शुरुआती पढाई दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल में हुई।
राहुल गांधी की शुरुआती पढाई दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल में हुई।

19 जून 1970 को दिल्ली में राहुल गांधी का जन्म हुआ। ये तो आप सभी जानते है की वे देश के मशहूर गांधी-नेहरू परिवार से हैं। उनकी मां सोनिया गांधी हैं, जो कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष है। खानदान के बड़े बेटे राहुल गांधी तो थे ही पर साथ ही वो सबके चहेते भी थे। आपको पता है की वो पिता राजीव गांधी और दादी इंदिरा गांधी के वो बेहद लाडले थे।

पढाई के लिए देहरादून से कैंब्रिज तक का सफर:

राहुल गांधी की शुरुआती पढाई दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल में हुई। इसके बाद उन्होंने दून विद्यालय में भी कुछ समय तक पढ़ाई की, इसी स्कूल से उनके पिता ने भी पढ़ाई की थी। साल 1989 में राहुल ने दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज में दाखि‍ला लिया। ये जानकर आप हैरान हो जाएगे की दिल्ली से देहरादून और देहरादून से कैंब्रिज। फिर कैंब्रिज के मुंबई तक राहुल गांधी अपनी पहचान बदल कर के पढ़ाई को जारी रखते रहे।

सैंट कोलंबस स्कूल से ली शुरुआती शिक्षा:

  • पिस्टल शूटिंग में राहुल के हुनर की बदौलत स्पोर्ट्स कोटे से हुआ।
  • राहुल ने इतिहास ऑनर्स में एडमिशन लिया था।
  • राहुल हमेशा अपने सुरक्षाकर्मियों के साथ कॉलेज आते थे।
  • दिल्ली के सैंट स्टीफंस कॉलेज में राहुल ने साल 1989 में अंडर ग्रेजुएज कोर्स में दाखिला लिया था,

राहुल गांधी 14 साल के थे जब हुई दादी इंदिरा की हत्या:

Rahul Gandhi and Soniya Gandhi
राहुल की उम्र उस वक़्त सिर्फ 14 साल की थी जब इंदिरा गांधी की हत्या कर दी गई
  • राहुल गाँधी अपनी दादी के लाडले थे।
  • राहुल की उम्र उस वक़्त सिर्फ 14 साल की थी जब इंदिरा गांधी की हत्या कर दी गई। जिस समय इंदिरा गाँधी की हत्या हुई जब राहुल अपने स्कूल की पढ़ाई कर रहे थे।
  • दादी को गुजरे अभी बस सात साल ही हुए थे कि साल 1991 में पिता राजीव गांधी की भी हत्या कर दी गई। ये वो दौर था जब कॉलेज में थे राहुल।
  • सात साल के भीतर हुई देश और उनके परिवार के दो बड़े सदस्यों की हत्याओं ने पूरे गांधी परिवार को झकझोर कर रख दिया. यही कारण था की राहुल को सुरक्षा कारणों से देश के बाहर भेज दिया गया.

राहुल गाँधी ने देखे कई उतार चढ़ाव:

राहुल का जन्म जिस परिवार में हुआ उसकी गिनती देश के सबसे ताकतवर परिवारों में होती है। ये वो परिवार है जिसकी रगों में खून के साथ देश की राजनीति बहती है। साथ ही इस परिवार के साथ सुनहरी विरासत जुड़ी थी। इसलिए राहुल गांधी भी राजनीति से अपने को दूर न रख पाए, लेकिन राजनीति में कदम रखने से पहले राहुल का जीवन कई उतार चढ़ावों और चुनोतियो से भरा रहा।

साल 2004 में रखा पहली बार संसद में कदम

Amreli: Congress vice President
राहुल गाँधी कांग्रेस पार्टी के उत्तराधिकारी के रूप में दिख सकते है
  • राहुल गांधी ने साल 2004 में अमेठी सीट से चुनाव लड़ा और जीत के साथ ही देश की संसद में पहली बार कदम रखा।
  • मां सोनिया गांधी की देख-रेख में राहुल ने पार्टी में कई महत्वपूर्ण पदों पर काम किया।
  • साथ ही पार्टी के अंदर अपने लिए जगह बनाने में कामयाब रहे। जिसका नतीजा ये हुआ कि राहुल गांधी को साल 2013 में कांग्रेस का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया।

जल्द ही अब राहुल गाँधी कांग्रेस पार्टी के उत्तराधिकारी के रूप में दिख सकते है। उम्मीद करते है राहुल के बारे में ये बातें जानकार आपकी सोच थोड़ी लेकिन बदली जरूर होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *