How to get rid of acidity

आजकल गैस यानी एसिडिटी की समस्या बहुत ही आम हो गयी है इसका सबसे बड़ा कारण है पेट में पाचन रस की ज्यादा या कम मात्रा का निकलना. ऐसा होने पर acidity होती है और पेट में दर्द, गैस, मुंह से बदबू  और जी मिचलाने  जैसी समस्याएं खड़ी हो जाती हैं .

पसीने की बदबू दूर करने के उपाय

acidity

लगातार एसिडिटी की शिकायत रहती है उनको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए यह एक गंभीर समस्या भी हो सकती है . इसकी परेशानी ज्यादा मसालेदार खाना खाने, अनियमित खाने  की आदतें या बहुत ज्यादा stress लेने से भी हो सकता है. कैफीने की ज्यादा मात्रा लेने से भी एसिडिटी की समस्या हो जाती है.

एसिडिटी के कारण और लक्षण (Cause and Symptoms):
Acidity को चिकित्सकीय भाषा में (GERD) Gastroesophageal Reflux Disease भी कहते हैं. अगर पेट की अम्लीयता जैसे रोग पर ध्यान न दिया जाए तो यह पेट के अलसर का रूप ले लेती है इसलिए इसे नज़रअंदाज़ न करें.

एसिडिटी के कारण(cause of acidity):
बदलती हुई lifestyle acidity होने में बहुत मुख्य भूमिका निभाती है जैसे देर रात तक जागना, असमय भोजन करना, तीखा मसालेदार व गरिष्ठ भोजन करना आदि के कारण भी समस्या हो सकती है.

एसिडिटी के लक्षण(Symptoms of acidity):
acidity का लक्षण बहुत सारे हैं जैसे सीने या छाती में जलन होना, साँस लेने में दिक्कत होना, खट्टी डकारे आना, घबराहट और उलटी जैसा महसूस होना, पेट में जलन और दर्द होना, गले में लगातार जलन महसूस होना, पेट फूलना आदि.

तुलसी के पत्ते (Basil Leaves):
तुलसी का पत्ता तुरंत acidity, गैस और उल्टी से राहत देता है. उपचार के लिए कुछ तुलसी के पत्तों को चबा कर खाएं. इसके अलावा आप तुलसी के कुछ पत्तों को पानी में उबालकर, उस पानी को छानकर गुनगुना रहने पर honey मिलाकर पिएं इससे acidity कम होती है

छाछ (Buttermilk):
छाछ यानी की मठ्ठा पीने से acidity में राहत मिलती है. इसमें में पेट की अम्लता को संतुलित करने के लिए lactic acid  पाया जाता है. मेथी के दानों को पानी के साथ मिलाकर paste बना लें, इस pasteको एक गिलास छाछ में मिलाकर पीने से पेट का दर्द ठीक होगा और गैस से भी निजात मिलेगी. बेहतर स्वाद के लिए नमक भी मिला सकतें हैं.

लौंग (Cloves):
लौंग खाने से पेट में Hydrochloric acid की मात्रा बढ़ जाती है जिससे पेट की अम्लता कम होती है और acidity से राहत मिलती है. खाने के बाद 2 से 4 लौंग को मुंह में रखकर हल्का चबाकर चूसें.

जीरा (Cumin):
जीरा एक बेहतरीन Acid Neutralizer है जो acidity को कम करता है. इसके साथ ही digestion power को बढ़ाकर पेट दर्द से राहत देता है. जीरा को भूनकर उसका powder बनाएं. इस powder को खाना खाने के बाद एक गिलास पानी में मिलाकर पिएं.

सौंफ (Fennel):
सौंफ खाने को digestion में सहायता करती है और gas को दूर रखती है. रोज खाना खाने के बाद सौंफ को मुंह में रखकर चबाएं. Fennel के साथ मिश्री भी मिलाई जा सकती है. इससे acidity से राहत मिलती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *