Skill India,भारत कौशल मिशन

भारत कौशल मिशन!!! भारत में कई सरकार आयी और गयी लेकिन आम लोगों की स्थिति जस की तस बनी हुई है.

विश्वकर्मा जयंती क्यों मनाई जाती है

बढ़ती जनसंख्या और कौशल की कमी के कारण युवा बेरोजगार हैं, और गरीबी में जीवन जीने को मजबूर हैं.

भारत कौशल मिशन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत कौशल मिशन की शुरुआत करके भारत के स्किल इंडिया बनाने के अपने विजन पर जोर दिया है. मोदी स्किल इंडिया को गरीबी के विरुद्ध एक जंग मानते हैं और देश का हर युवा उनके इस युद्ध में उनका सिपाही है. प्रधानमंत्री ने भारत कौशल मिशन की शुरुआत करते हुए कहा कि देश को गरीबी से मुक्त करने के लिए उनकी सरकार प्रतिबद्ध है.
देश को विकास के रास्ते पर अग्रसर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुशल भारत कौशल भारत योजना की शुरुआत की है इस योजना के अंतर्गत 2022 तक 40 करोड़ भारतीय लोगों को प्रशिक्षित किया जाएगा.

स्किल इंडिया का मिशन और मुख्य उद्देश्य(Motto of Skill India):
भारत कौशल मिशन

कौशल विकास योजना का मुख्य उद्देश्य भारत के लोगों को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षित कर उनके  कार्य क्षमता को बढ़ाना है. कौशल विकास योजना से युवा स्किल सीख कर अपना काम शुरू कर सकते हैं. प्रधानमंत्री युवाओं को हमेशा नौकरी सृजन करने की सलाह भी देते हैं.

  • योजना का मुख्य उद्देश्य उन बच्चों के अंदर छिपी प्रतिभा को निखारना है जो गरीबी के कारण उच्च शिक्षा नहीं प्राप्त कर सके.
  • प्रयोजित तरीके से गरीबों और गरीब युवाओं को संगठित करके उनके कौशल का विकास करके गरीबी का ख़त्म करना करना है.
  • गरीबों को रोजगार के काबिल बनाकर उनमे आत्मविश्वास भरना.
  • भारत की  65% जनसंख्या 35 वर्ष से कम है को रोजगार से संबंधित चुनौतियों का सामना करने के लिये अवसर प्रदान करना.
  • युवा जिस भी कौशल (जैसे: गाड़ी चलाना, कपड़े सिलना, खाना बनाना, सफाई करना, मकैनिक का काम करना, बाल काटना, आदि) को जानते हैं, उसी कौशल को निखारकर व प्रशिक्षित करके उसके काम को सरकार द्वारा मान्यता प्रदान करना.
  • देश में मौजूद सभी तकनीकी संस्थाओं को बदलती तकनीक के अनुसार गतिशील बनाना.

इस कौशल विकास योजना में नया क्या है?

आपको बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा शुरु की गयी कौशल भारत योजना नयी नही है. इससे पहले U.P.A सरकार ने भी Skill development योजना को शुरु किया था. कांग्रेस के समय 2022 तक लगभग 500 मिलियन भारतीयों का Skill develop करने का लक्ष्य रखा था. भाजपा ने 40 करोड़ लोगों को कुशल बनाने का लक्ष्य रखा है. सरकार ने इस योजना में उद्यमी संस्थाओं को जोड़ा हैं और भारत में काम करने वाली सभी गैर-सरकारी संस्थानों से भी संबंध स्थापित किया है. कांग्रेस के समय ये योजना 20 मंत्रालयों द्वारा संचालित की जाती अब मोदी सरकार ने इसे एक मंत्रालय द्वारा संचालित की जा रही है.

कौशल भारत–कुशल भारत मिशन के लाभ(Benefits of Skill India):

कौशल भारत मिशन के जरिये मोदी सरकार ने गरीब और संसाधनों से वंचित युवाओं को प्रशिक्षित करके बेरोजगारी की समस्या और गरीबी को देश से खत्म करने का लक्ष्य रखा है.
इस मिशन का Mission प्रशिक्षण के जरिये युवाओं में आत्मविश्वास को लाना है जिससे उत्पादकता में वृद्धि हो सके. इस योजना में सरकारी, निजी और गैर-सरकारी संस्थानों के साथ साथ शैक्षिक संस्थाएं भी मिलकर काम करेंगी.

इस मिशन के कुछ मुख्य लाभ निम्नलिखित है:

  • इस मिशन के माध्यम से युवाओं को प्रशिक्षित करके भारत में बेरोजगारी की समस्या के निवारण में सहायता करना.
  • उत्पादकता में वृद्धि करना.
  • भारत से गरीबी खत्म करने में सहायता करना.
  • भारतीयों में छिपी हुई योग्यता को बढ़ावा देना.
  • राष्ट्रीय आय के साथ-साथ प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि करना.
  • लोगों की जीवन निर्वाह आय में वृद्धि करना.
  • भारतीयों के जीवन स्तर में सुधार करना.

आप अपनी रूचि के अनुसार अपने स्किल को निखार सकते हैं इसके लिए सरकार आपकी हर संभव मदद करने के लिए तैयार है आप इस लिंक https://www.nsdcindia.org/hi/ पर जाकर अपनी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *