भारत में Bullet train, 14 सितम्बर से शुरू होगा काम

दोस्तों भारत में Bullet train चलने की बात करना दिन में तारे देखने से कम नहीं था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह सपना देखा और उसको हकीकत बनाने के लिए हर कोशिश कर रहे हैं.
Simran movie trailer 2017
Bullet train
जी हाँ दोस्तों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे 14 सितंबर को मुंबई से अहमदाबाद के बीच चलने वाली देश की पहली Bullet train की नींव का उद्घाटन करेंगे. इस प्रोजेक्ट को मुंबई अहमदाबाद Bullet train के नाम से जाना जाता है, यह एक दूरगामी प्रोजेक्ट है जिसमें सुरक्षा और रफ्तार पर खास ध्यान दिया जाएगा. इस प्रोजेक्ट के जरिए भारतीय रेल विश्व स्तर पर रफ्तार और सुविधा और क्षमता के क्षेत्र में अपनी नई पहचान  बनाने में सफल होगी

भारत को आर्थिक मदद:
Bullet train
 88,000 करोड़ का लोन इस मेट्रो प्रोजेक्ट को भारत जापान के साथ मिलकर पूरा करेगा, दोनों ही देशों के बीच इस प्रोजेक्ट के लिए करार हुआ है, जापान भारत को 88,000 करोड़ रुपए का लोन देगा, दोस्तों इस लोन की ब्याज दर सुनकर आप हैरान रह जाएंगे यह लोन महज 0.1 फीसदी की ब्याज दर पर दिया जाएगा. और भारत को इस लोन का रीपेमेंट 15 वर्ष बाद देना होगा.  भारत सरकार का कहना है कि इतना लंबा समय और कम ब्याज दर एक तरह से इस लोन को ब्याजमुक्त बनाता है इस प्रोजेक्ट में 80 फीसदी व्यय जापान करेगा भारत इस प्रोजेक्ट के लिए जो लोन प्राप्त कर रहा है वह तकरबीन शून्य ब्याज के बराबर है, जिसके चलते भारत की मौजूदा वित्तीय व्यवस्था पर किसी भी तरह का कोई दबाव नहीं पड़ेगा. दोस्तों इस प्रोजेक्ट के लिए 80 फीसदी से अधिक व्यय का खर्च जापान सरकार उठा रही है. पहली बार किसी इतने बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट को किसी दूसरे देश ने इतनी ज्यादा सहूलियत के साथ करार किया हो. मोदी के इस सपने और Bullet train के प्रोजेक्ट के जिरए मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट का बड़ा मुकाम देने की कोशिश की जाएगी, दोनों सरकारों के बीच जो प्रोजेक्ट साइन किया गया है उसके अनुसार इसे मेक इन इंडिया और ट्रांसफर ऑफ टेक्नोलॉजी के तहत किया गया है. इसके प्रोजेक्ट पर चार सब ग्रुप बनया गया है जिसमे भारतीय उद्योग, जापानी उद्योग, डीआईपीपी, एनएचएसआरसीएल और जेट्रो के प्रतिनिधि शामिल होंगे, जो मेक इन इंडिया के लिए आवश्यक क्षमताओं की पहचान करने में मदद करेंगे. निवेश को मिलेगा बढ़ावा इस प्रोजेक्ट से पहले ही भारत और जापान के उद्योगपतियों में सक्रिय बातचीत का दौर पहले ही शुरू हो चुका है, दोनों सरकारों को इस बात का भरोसा है कि आने वाले समय में कई और प्रोजेक्ट को दोनों देश मिलकर पूरा करेंगे, जिससे की मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में और भी बड़ी उपलब्धि को हासिल किया जा सके. सक्रिय बातचीत का दौर पहले ही शुरू हो चुका है, दोनों सरकारों को इस बात का भरोसा है कि आने वाले समय में कई और प्रोजेक्ट को दोनों देश मिलकर पूरा करेंगे, जिससे की मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में और भी बड़ी उपलब्धि को हासिल किया जा सके. जापान के साथ शुरू हो रहे इस प्रोजेक्ट के जरिए देश में आधुनिक तकनीक आएगी और बड़ी संख्या में युवाओं को रोजगार भी हासिल होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *