स्वच्छ भारत अभियान पर Essay

स्वच्छ भारत अभियान:

दोस्तों स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत हुए काफी समय निकल चुका है. लेकिन यह अभियान कहां तक पहुंचा और इसकी आखिरी डेडलाइन क्या है हम आपको इन सब चीजों की जानकारी देंगे.

दोस्तों स्वच्छ भारत अभियान पर कविता जरूर पढ़ें

स्वच्छ भारत अभियान

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने Clean India Mission की शुरूआत नई दिल्ली, राजपथ से की. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि स्वच्छ भारत के द्वारा ही देश 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर उन्हें अपनी best श्रद्धांजलि दे सकते हैं. 2 अक्टूबर, 2014 को स्वच्छ भारत मिशन देश भर में व्यापक तौर पर राष्ट्रीय आंदोलन के रूप में शुरू किया गया था. इस Mission के अंतर्गत 2 अक्टूबर 2019 तक “स्वच्छ भारत” की कल्पना को साकार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

स्वच्छ भारत अभियान

स्वच्छ भारत अभियान भारत सरकार द्वारा चलाया गया सबसे महत्वपूर्ण स्वच्छता अभियान है. नरेन्द्र मोदी ने India Gate पर स्वच्छता के लिए आयोजित समारोह की अगुआई की. समारोह में देश भर से आए हुए लगभग 50 लाख सरकारी कर्मचारियों ने भाग लिया. उन्होंने इस अवसर पर दोस्तों मोदी जी ने पदयात्रा को भी झंडी दिखाई थी. पदयात्रा में भाग लेने वाले लोगों के साथ काफी दूर तक चलकर लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया.

स्वच्छता के जन अभियान की अगुआई करते हुए प्रधानमंत्री ने जनता को महात्मा गांधी के स्वच्छ Environment वाले भारत के निर्माण के सपने को साकार करने के लिए प्रेरित किया. धूल-मिट्टी को साफ़ करने के लिए झाडू उठाकर मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान को पूरे राष्ट्र के लिए एक जन-आंदोलन का रूप दिया. मोदी ने लोगों से कहा कि हमेँ ना तो स्वयं गंदगी फैलानी है और न ही किसी और को फैलाने देना चाहिए. उन्होंने गंदगी करेंगे, न करने देंगे” का मंत्र भी दिया. श्री नरेन्द्र मोदी ने नौ लोगों को स्वच्छता अभियान में शामिल होने के लिए भी आमंत्रित किया और उनसे यह अनुरोध किया वो अन्य लोगों को इस Mission में शामिल होने के लिए प्रेरित करें.

दोस्तों आपको बता दें कि मोदी ने लोगों को इस यज्ञ में शामिल कर इसे राष्ट्रीय अभियान का रूप दे दिया है .स्वच्छ भारत अभियान के संदेश ने लोगों के अंदर उत्तरदायित्व की भावना जगा दी है. अब जबकि नागरिक पूरे देश में स्वच्छता के कामों में सक्रिय रूप से सम्मिलित हो रहे हैं, महात्मा गांधी द्वारा देखा गया ‘स्वच्छ भारत’ का सपना अब साकार होने लगा है.

प्रधानमंत्री ने अपनी बातों और अपने कामों से स्वच्छ भारत के संदेश को लोगों का प्रयोग करके पूरे भारत और पूरी दुनिया में फैला दिया है. उन्होंने वाराणसी में भी स्वच्छता अभियान चलाया.उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के तहत गंगा नदी के निकट अस्सी घाट पर फावड़ा चलाया. बड़ी संख्या में उनके साथ शामिल होकर स्वच्छता अभियान में उनका सहयोग दिया. मोदी ने इसके साथ ही साथ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को हल करने की बात भी उठाई. ये स्वास्थ्य समस्यायें लगभग आधे भारतीय परिवारों को घर में उचित शौचालय न होने के कारण झेलनी पड़ रही हैं.

स्वच्छ भारत अभियान

समाज के विभिन्न वर्गों ने स्वच्छता के इस जन अभियान में हिस्सा लिया है, और अपना योगदान दिया है. सरकारी कर्मचारियों से लेकर जवानों तक, बालीवुड के Actors से लेकर Player, Spiritual leaders तक सभी ने इस महान काम के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई है. देश भर के लाखों लोग सरकारी विभागों द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छता के इन कामों में सम्मिलित होते रहे हैं, इस काम में N.G.O भी शामिल हैं, नाटकों और संगीत के माध्यम से सफाई और स्वास्थ्य के गहरे संबंध के संदेश को लोगों तक पहुंचाने के लिए बड़े Level पर पूरे देश में स्वच्छता अभियान चलाये जा रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने जनता द्वारा स्वच्छ भारत मिशन में हिस्सा लेने और एक स्वच्छ भारत के निर्माण में अपना योगदान देने के प्रयत्नों की सराहना की है. नरेन्द्र मोदी ने सोशल मीडिया में जनता की भागीदारी की हमेशा प्रशंसा की है.  स्वच्छ भारत अभियान के  हिस्से के तौर पर ‘#MyCleanIndia’ Campaign भी शुरू किया गया है. सफाई-सुथराई के लिए चलाए जा रहे इस अभियान में नागरिकों के योगदान को उजागर किया जा सके.

स्वच्छ भारत Mass Movement का रूप ले चुका है क्योंकि इसे जनता का अपार समर्थन मिला है. जनता स्वच्छता के संदेश को फैलाने में मदद कर रही है और इस काम में शामिल हो रही है.

स्वच्छता ही सेवा है अभियान(Swchhta hi sewa hai):

दोस्तों आपको याद ही होगा 2 अक्टूबर 2014 को मोदी जे ने स्वच्छ भारत बनाने का सपना देखा था और एक अभियान चलाया था. गाँधी जी को श्रद्धांजलि देना है तो उनके इस भारत को साफ़ रखिये ये देश आपका घर है इसे साफ़ रखिये. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में लोगो से अपील की थी कि अगर अगर सभी देशवासी एक साथ मिलकर खड़े हो जाएं तो गंदगी को भारत से बाहर निकाल फेंकेंगे.
उसी अभियान में एक और कड़ी है स्वच्छता ही सेवा है अभियान इस अभियान को 15 सितम्बर से 2 अक्टूबर तक चलाया जाएगा.
मोदी का सपना है कि 2019 तक भारत की तस्वीर बदली नजर आनी चाहिए .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *