सूर्य ग्रहण 21 अगस्त,सूर्य ग्रहण अगस्त 2017 टाइम और डेट

सूर्य ग्रहण 21 अगस्त!! अभी कुछ दिन पहले एक ग्रहण राखी के त्यौहार पर हुआ था. जोकि चंद्र ग्रहण था. चंद्र ग्रहण के 15 दिन बाद सूर्य ग्रहण होता है. इसके बाद अब 21 अगस्त 2017 यानि आज दूसरा सूर्य ग्रहण होने जा रहा है. और माना जा रहा है कि ये बहुत बड़ा और पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा. हालाँकि ये ग्रहण अमेरिका में पूरी तरह से दिखाई देगा.  भारत में उस समय रात होगी तो भारत के लोग पूर्ण सूर्य ग्रहण नहीं देख पाएंगे.

Top Tips of Time Management in Hindi

सूर्य ग्रहण 21 अगस्त का समय और सूतक :

सूर्य ग्रहण 21 अगस्त 2017 सोमवार को भारतीय समयानुसार सूर्य ग्रहण रात्रि 9:15 से मध्य रात्रि 2:34 बजे तक होगा और इसके पहले सूतक दिन में 12 बजे के करीब लग जायेगा.  रात्रि  11:51 बजे पर ग्रहण का मध्यकाल होगा.  सूर्य ग्रहण की अवधि लगभग 5 घंटे 19 मिनट की होगी.

कैसे होता है सूर्य ग्रहण:

जब  चन्द्रमा, सूर्य और पृथ्वी के बीच आ जाता है तब सूर्य ग्रहण माना जाता है. इसी प्रकार जब चाँद पृथ्वी को पूरी तरह से ढक लेता है तो पूर्ण सूर्य ग्रहण माना जाता हैं.  इस परिस्थिति में सूरज की रौशनी सीधे पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाती और धरती पर इसी वजह से अँधेरा हो जाता हैं.

इस सूर्य ग्रहण पर कुछ जानकारों का कहना है कि भारत में ग्रहण के समय रात्रि होने पर और ग्रहण न दिखाई देने की वजह से भारत के लोगो पर इसका कोई ज्यादा असर नहीं पड़ेगा. तो दूसरी तरफ कुछ लोगो का कि ग्रहण पूरी दुनिया है, तो इसका असर हर जगह होना लाजमी है. लेकिन लोगो को समझना चाहिए कि ग्रहण का कोई असर हो या न हो परन्तु कुछ आसान से उपाय करने में क्या जाता है.

ग्रहण का असर जहां कुछ राशियों पर पड़ता है वहीँ सबसे ज्यादा असर गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता हैं. गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय जयादा सावधानियां रखनी होती हैं.

  • जैसे कि ग्रहण की पूरी अवधि तक सोना नहीं होता है.
  • बैठकर मन्त्र जाप करना लाभकारी माना जाता है.
  • थोड़ा घूमना फिरना भी सही होता है.
  • बहार निकलने के लिए मना किया जाता है.
  • इस दौरान कुछ खाना-पीना भी सही नहीं माना जाता है.
  • ग्रहण के पश्चात् स्नान करना भी सही कहलाता है.
  • कुछ काटना, या काम करना भी वर्जित माना जाता है.

सो आप सब भी सूर्य ग्रहण पर अपना ख्याल रखे….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *