धनतेरस 2017, शुभ मुहूर्त मंत्र पूजा विधि

धनतेरस 2017!! इस समय मौसम त्योहारी रंग में नहाया हुआ है. इस आकर्षक फेस्टिव सीजन की शुरुआत हो चुकी है. बाजारों की रौनक भी एक अलग रंग में है. कल से दिवाली सीजन आपके मन को खुशनुमा बनाने आ रहा है.

ऐसे पूजा करके मां लक्ष्मी को दिवाली पर घर में आमंत्रित करें

धनतेरस 2017

दिवाली सीजन के त्यौहार की शुरुआत धनतेरस के साथ होती है. धनतेरस दिवाली सीजन में सबसे पहला त्यौहार माना जाता है. धनतेरस पर लोग खूब खरीदारी करते हैं. खरीदारी करना इस दिन बहुत शुभ माना जाता है.

दिवाली के लिए बेस्ट गिफ्ट आइडियाज यहां से लें

कब करें धनतेरस 2017 की खरीदारी:
धनतेरस पर खरीदारी करने का शुभ समय शाम को माना जाता है. शाम से लेकर रात तक बाजारों में लोग बड़े उत्साह के साथ खरीदारी करते हैं.

धनतेरस पर लोग सोने चांदी के आभूषण, बर्तन, झाड़ू और वाहनों की खरीदारी करते हैं. इनकी खरीदारी करना अच्छा माना जाता है. धनतेरस पर पूजा का­­­ भी एक शुभ मुहूर्त होता है. जिस पर आप विधि-विधान के साथ पूजा-पाठ करके अपने साल को अच्छा बना सकते हैं. भगवान की कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी.

कब है धनतेरस 2017:
धनतेरस 2017 का त्यौहार इस बार मंगलवार यानी 17 अक्टूबर 2017 को मनाया जाएगा. धनतेरस पर माता लक्ष्मी के साथ धन के मालिक कुबेर की पूजा की जाती है. लोग अपने घरों में कुबेर देवता की मूर्ति को भी स्थापित करते हैं.

पूजा का शुभ मुहूर्त:
धनतेरस के दिन पूजा-अर्चना का शुभ मुहूर्त शाम 6.57 से रात्रि 8.49 तक रहेगा. मुहूर्त के निश्चित समय में पूजा करने से भक्त जनों को अच्छा लाभ मिलता है.

इस मंत्र से करें धन के देवता का जाप:
देवान कृशान सुरसंघनि पीडितांगान, दृष्ट्वा दयालुर मृतं विपरीतु कामः
पायोधि मंथन विधौ प्रकटौ भवधो, धन्वन्तरि: स भगवानवतात सदा नः
ॐ धन्वन्तरि देवाय नमः ध्यानार्थे अक्षत पुष्पाणि समर्पयामि

धनतेरस पूजन विधि:
यूं तो पूजा सब अपने-अपने तरीके से करते हैं लेकिन फिर भी हर पूजा को करने की एक विधि होती है. जिसके अनुसार आप अपनी पूजा को और भी फलदायी बना सकते हैं.
तो चलिए जानते हैं धनतेरस के दिन की पूजन विधि क्या होनी चाहिए.

  • सबसे पहले पूजन के स्थान की सफाई करें
  • उसके बाद एक चौकी रखें
  • चौकी पर एक साफ कपड़ा बिछाकर उस पर लक्ष्मी माता और भगवान धनवंतरी की तस्वीर रखें
  • गंगाजल से छिड़काव
  • एक दीपक लें और उस पर सिंदूर और अक्षत का तिलक लगाकर उस में तेल डालकर भगवान के सामने दीप प्रज्वलित करें
  • भगवान को भोग लगाएं और कुछ पैसे भी चढ़ाएं
  • कुछ देर भगवान का ध्यान करें. और ऊपर बताए गए मंत्र का जाप करें
  • तत्पश्चात पूजा समाप्त होने के बाद दीपक को घर के मुख्य द्वार पर रख दें.
    dhanteras par kya kharide
    तो इस प्रकार आप भी ऊपर बताएं गई पूजा विधि के अनुसार पूजा करें और भगवान के मंत्र का जाप करें और अपनी धनतेरस को खुशहाल बनाए. परिवार की सुख समृद्धि के लिए कामना करें.

Happy Dhanteras!!

राष्ट्रीय एकता दिवस कविता

राष्ट्रीय एकता दिवस कविता!!राष्ट्रीय एकता दिवस कविता

राष्ट्रीय एकता दिवस कविता!! 31 अक्टूबर को देश में राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया जाता है. यह देश के लोह पुरुष के रूप में जाने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म जयंती के दिन मनाया जाता है. देश की केंद्रीय सरकार ने 2014 में इसकी शुरुआत की थी.
इस दिन को मनाने का मकसद देश के लोगों में एक दूसरे के प्रति एकता की भावना को उजागर करना है. चलिए पढ़ते हैं एक राष्ट्रीय एकता दिवस कविता…..

एलोवेरा के ये फायदे जानना भी जरूरी है

राष्ट्रीय एकता दिवस कविता:
इस राष्ट्र की एकता को हमेशा बनाए रखें
दिल में इस जज्बे को हमेशा जगाए रखें
एकता के परिवेश में, जब वह रूप हमने पाया
अपना भारत देश ही, सोने की चिड़िया कहलाया
भारत माता के सपूतों क्यों
एक दूसरे पर वार करते हो
क्यों देश की अखंडता को, तार तार करते हो
राष्ट्र के महापुरुषों ने, एकता का प्रचार किया था
सांप्रदायिक विचार का, बहिष्कार किया था
सब में प्रेम बांटना ही, अपनी पहचान होनी चाहिए
इसी धारणा की सभी के मन में
ऊंची आवाज होनी चाहिए
ईश्वर के बच्चों में भेद मत होने दीजिए
हर मजहब एक दिखें, सीख सब को दीजिए!!

आइए इस बार राष्ट्रीय एकता दिवस पर हम सब भी मिलकर भारत देश की एकता के लिए योगदान करते हैं.

  • आसपास के लोगों को राष्ट्रीय एकता दिवस के मौके पर जागरूक करें
  • आपसी मतभेदों को भुलाएं
  • परिवार को एकता की परिभाषा समझाए
  • जन-जन में प्रेम बांटने की कोशिश करें
  • सांप्रदायिक विचारों से अपना बचाव करें

Best gift ideas for diwali

दिवाली पर गिफ्ट!!!

दिवाली का त्योहार अब आने वाला ही है ऐसे में में मिठाई, पटाखे और आतिशबाजियों के अलावा गिफ्ट का भी महत्व बहुत ही ज्यादा है.
इस त्यौहार में दोस्त, परिवार, ऑफिस हर जगह गिफ्ट लेने-देने की परंपरा है. ऐसे समय में गिफ्ट क्या दें यह हमारी समझ से बाहर हो जाता है ऐसे में हम आपके लिए कुछ गिफ्ट Ideas लेकर आएं हैं.

दिवाली पर गिफ्ट

इस दिवाली कुछ इस खास तरह से करें सजावट

ऑफिस के लिए दिवाली पर गिफ्ट:
अगर आप अपने ऑफिस में घड़ी गिफ्ट देना चाहते हैं तो पर्सनलाइज्ड घड़ी गिफ्ट में दे सकते हैं. ऑफिस में टाइम का खास महत्व होता है.
दिवाली पर लक्ष्मी जी और गणेश जी की पूजा की जाती है. इसलिए आप लक्ष्मी गणेश की मूर्ति भी गिफ्ट के स्वरूप में दे सकते हैं.

सगे संबंधियों के लिए:
दिवाली खुशियों का त्यौहार है और इस पर मिठाइयों का ख़ास महत्व है. इसलिए आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को मिठाई भी गिफ्ट कर सकते हैं.
लेकिन यहां हम आपको एक सलाह देना चाहेंगे. त्योहार पर किसी को भी मिठाई भेंट करने से पहले एक बार उसको चेक जरुर कर लेना चाहिए जब भी आप मिठाई खरीदें तो उसको टेस्ट जरूर कर लें. फेस्टिवल सीजन में मिठाइयों में बहुत ज्यादा मिलावट पाई जाती है.
इसके अलावा अगर आपका बजट थोड़ा ज्यादा है तो आप अपने सगे सम्बन्धियों को बाजार में उपलब्ध ड्राई फ्रूट का पैक भी गिफ्ट कर सकते हैं. जोकि देखने में तो बहुत आकर्षक लगते ही हैं साथ ही आप दूसरों पर इंप्रेशन भी डाल सकते हैं.

इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स:
अगर ये आपके Boyfriend या Girlfriend के साथ पहली दिवाली हो तो उन्हें स्पेशल फील कराने के लिए स्मार्टफोन भी गिफ्ट कर सकते हैं. कई ई-कॉमर्स कंपनियां फेस्टिव सीजन के चलते ऑफर्स भी देती हैं. आप भी उन ऑफर्स का फायदा उठा सकते हैं.
आप अपने करीबियों को भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स उपहार के तौर पर दे सकते हैं.

घर की सजावट के लिए गिफ्ट:
बाजार में कई हेंडीक्राफ्ट आइटम्स उपलब्ध होते हैं. जिन्हें आप गिफ्ट कर सकते हैं. हेंडीक्राफ्ट आइटम्स घर के किसी भी हिस्से की शोभा बढ़ाते सकते हैं.
दिवाली में क्रॉकरी का सेट देना भी एक अच्छा विकल्प है.

कार्ड :
कोई भी त्यौहार हो कार्ड का प्रयोग आप हमेशा किसी को स्पेशल फील करने के लिए कर सकते हैं. कार्ड में शुभकामनाएं लिखकर कार्ड भेंट करें.

चॉकलेट :
अब दिवाली पर एक-दूसरे को चॉकलेट गिफ्ट करना एक ट्रेंड बन गया है. और धीरे-धीरे लोग मिठाई की जगह चॉकलेट को ही तरजीह देने लगे हैं.

किसी को भी खुश करने के लिए ऊपर बताए गए गिफ्ट Ideas काफी हैं. गिफ्ट देते समय मुस्कुराना ना भूलें. एक मुस्कुराहट के साथ अपने रिश्तो में मधुरता लाएं.

Happy Diwali to All Dear Readers!!

Decoration of Diwali

दिवाली की सजावट!!!

दिवाली की सजावट सच में बहुत मायने रखती है. इस दिन लोग अपने घरों की साफ़-सफाई कर उसे सजाने में व्यस्त हो जाते हैं. इस दिन घर को सजाना उतना ही जरुरी होता है जितना माता लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा करना होता है. कहते हैं जहां साफ़-सफाई होती है वहाँ माँ लक्ष्मी का वास होता है. यदि आपका घर साफ़ सुथरा और सजा रहेगा तो माता लक्ष्मी आप पर खुश रहेंगी.

दीवाली कहानी, लक्ष्मी पूजन मंत्र और मुहूर्त

दिवाली की सजावट

दिवाली की सजावट और घर को नया लुक देने के लिये लोग विभिन्न प्रकार की झालरों से ले कर रंगाई-पुताई आदि कराने पर ध्यान देते हैं और पैसे भी खर्च करते हैं.
लोग सोंचते हैं कि बात अगर घर को सजाने की हो तो बजट का ध्यान दिमाग से निकाल देना चाहिए. लेकिन दिवाली के दौरान लगभग हर दुकानदार अपने सामान का रेट चार गुना बढ़ा देता है. इसलिए दिवाली की सजावट करने के कुछ आसान tips आपको बताने जा रहे हैं .

दिवाली पर घर सजाने के लिये आपको कुछ Basic सी चीज़े चाहिये होती हैं. जो कि बाजार में बहुत महंगे दामों पर बेची जाती हैं. इसलिये इस काम में हम आपकी मदद करेंगे और आपको बताएंगे कि दिवाली पर किस तरह budget में रह कर घर को सजाया जाए.

कागज़ के रिबन:
वैसे इन रिबन का प्रयोग बर्थडे पार्टी या किसी अन्य पार्टी जैसे टीचर्स डे आदि पर किया जाता है. तो क्यों ना इसका प्रयोग हम दिवाली पर घर को सजाने के लिए करें. जो कि आपके बजट के अनुकूल भी होगा.

वॉल हैंगिंग(wall hanging):
दिवाली आते ही घर पर महमानों और परिवारजनों का आना-जाना शुरू हो जाता है. लोगों की भीड़ इकठ्ठा होने लगती है. तो इसलिये आपको अपने घर को अच्छी तरह से सजाना चाहिए. दिवाली की सजावट में आप गहरे रंग की वॉल हैंगिंग अपने सोफे के पीछे या बेड के ऊपर लगा सकती हैं. इससे आपका घर नया-नया नजर आएगा.

कंदील(Kandeel):
रंग-बिरंगे और कढाई वाले कंदील से आप अपनी बालकनी या घर में कम रौशनी वाली जगह को रौशन कर सकती हैं. बाजारों में कई प्रकार के कंडील उपलब्ध होते हैं.

पूजा की थाली:
दीवाली में लक्ष्मी पूजा के दिन थाली का विशेष महत्व होता है. अपने पूजा घर को साफ़ करें उसे सजाएं, उसमें रखी मर्तियों की सफाई करें और आरती की थाली को रंग-बिरंगे कपड़ों, सितारों और पेंट आदि से decorate करना न भूलें.

रंगोली(Rangoli):
इस दिन रंगोली का विशेष महत्व़ होता है. अपने घर के Main Gate पर Chalk Powder या फूलों की एक खूबसूरत रंगोली बनाएं और उस रंगोली पर कुछ दिये रखें. इससे पूरा घर खिला-खिला लगने लगता है.

हैंडीक्राफ्ट आइटम(Handcraft Items):
Clay के अद्भुत Handicraft item देखने में बहुत attractive लगते हैं और इनका budget भी कम होता है.

मूर्तियां:
मूर्तियों को आप अपने ड्राइंग रूम की साइड-टेबल पर रख कर उसके किनारे दिया सजा कर रख सकती हैं.

इस दीवाली आप भी अपने घर को ऊपर दिए हुए आईडिया से सजाकर एक खुशनुमा माहौल बनाएं. इस दिवाली को हमेशा के लिए यादगार बनाएं.
आपको कम पैसों में अपना घर सजाने के ऊपर बताए गए तरीके कैसे लगे कृपया करके हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं.

प्यारे पाठको को दिवाली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं!!
अपना ख्याल रखें अपने वातावरण का भी ख्याल रखें!!

दीवाली कहानी, लक्ष्मी पूजन मंत्र और मुहूर्त

दीवाली हिंदुओं के मुख्य त्यौहारों में से एक है. दीपावली को लक्ष्मी पूजा के नाम से भी जाना जाता है. दिवाली लोगो के लिए खुशियों भरा त्यौहार है. इस त्यौहार को पूरे भारत में बड़े हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है. इस फेस्टिव सीजन के लिए कार्यालयों में भी छुट्टी दी जाती है. लोग अपने-अपने घरों को जाते हैं और अपने परिवार वालो के साथ इस त्यौहार का भरपूर आनंद लेते हैं.

दिवाली गिफ्ट के लिए आईडिया यहाँ से ले

दीवाली

दीवाली भगवान श्री राम के अयोध्या वापसी की खुशी में मनाई जाती है. दीवाली के दिन लक्ष्मी जी की पूजा का भी विधान है.
इस साल दीवाली 19 अक्टूबर=2017 यानी बृहस्पतिवार को मनाई जाएगी. शास्त्रों के अनुसार इस दिन भगवान राम 14 वर्ष के बाद रावण यानी अंधकार पर विजय प्राप्त कर अयोध्या वापस लौटे थे. प्रभु राम के आने की ख़ुशी में अयोध्यावासियों ने दीपक जलाकर भगवान के वापसी का उत्सव मनाया था. स्कंद पुराण के अनुसार कार्तिक अमावस्या के दिन सुबह स्नान आदि से निवृत्त होकर सभी देवताओं की पूजा इस विधि विधान के साथ करनी चाहिए.

कुछ ऐसे करे दिवाली पर घर की सजावट

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त:
दिवाली के दिन लक्ष्मी माँ के पूजन का मुहूर्त शाम 07:11 से लेकर रात को 08:16 तक है.

महानिशा काल पूजा का मुहूर्त:
रात 11:40 से लेकर रात को 12:31 तक है

दिवाली पूजा विधि :
दिवाली के दिन पूजन मुहूर्त के समय पूजा घर में लक्ष्मी और गणेश जी की नई मूर्तियों को स्थापित करें.
पूजा की चौकी पर स्वस्तिक बनाकर और चावल रखकर उसके ऊपर कलश की स्थापना करनी चाहिए.
इसके बाद प्रतिमा के सामने बैठकर हाथ में जल लेकर शुद्धि मंत्र का उच्चारण करते हुए उसे मूर्ति पर, परिवार के सदस्यों पर और घर में सर्वत्र छिड़कना चाहिए.

दिवाली का त्यौहार पाँच दिन (धनतेरस, नरक चतुर्दशी, अमावश्या, कार्तिक सुधा पधमी, यम द्वितीया या भाई दूज) का हिन्दू त्यौहार है. जिसकी शुरुआत धनतेरस (अश्वनी माह के पहले दिन का त्यौहार है) से होती है और भाई दूज (कार्तिक माह के अन्तिम दिन का त्यौहार है) पर खत्म होती है.
इस त्यौहार को लोग खुशी से घरों को सजाकर बहुत सारी Light, दिये, candles  जलाकर, आरती पढकर, Gifts बाटकर, मिठाईयॉ, cards बॉटकर, एस .एम. एस भेजकर, रंगोली बनाकर, खेल खेलकर, मिठाइयां खाकर मानते हैं.

त्यौहार की शुरुआत:
गुरुवार, 19 अक्टूबर, 2017
धनतेरस: मंगलवार, 17 अक्टूबर, 2017
नरक चतुर्दशी (छोटी दीवाली): बुद्धवार, 18 अक्टूबर, 2017
लक्ष्मी पूजा (मुख्य दिवाली): गुरुवार, 19 अक्टूबर, 2017
बाली प्रतिप्रदा या गोवर्धन पूजा: शुक्रवार, 20 अक्टूबर, 2017
भाईदूज: शनिवार, 21 अक्टूबर, 2017

दिवाली पर सुख समृद्धि के विशेष 8 mantra:
दिवाली पर हर कोई महालक्ष्मी को प्रसन्न करने की कोशिश करता है. हम आपको शास्त्रों और पुराणों से एकत्र 8 ऐसे मंत्र के विषय में बताएंगे जो माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए जरुरी होता है.

महालक्ष्मी मंत्र 1
ॐ ह्रीं श्री क्रीं क्लीं श्री लक्ष्मी मम गृहे धन पूरये,
धन पूरये, चिंताएं दूरये-दूरये स्वाहा:

महालक्ष्मी मंत्र 2
ॐ ह्रीं ह्रीं श्री लक्ष्मी वासुदेवाय नम:

महालक्ष्मी मंत्र 3
पद्मानने पद्म पद्माक्ष्मी पद्म संभवे
तन्मे भजसि पद्माक्षि येन सौख्यं लभाम्यहम्

 महालक्ष्मी मंत्र 4
ॐ आं ह्रीं क्रौं श्री श्रिये नम: ममा लक्ष्मी
नाश्य-नाश्य मामृणोत्तीर्ण कुरु-कुरु
सम्पदं वर्धय-वर्धय स्वाहा:

महालक्ष्मी मंत्र 5
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नम:

 महालक्ष्मी मंत्र 6
ॐ ह्रीं श्री क्लीं नम:

महालक्ष्मी मंत्र 7
ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं महालक्ष्म्यै नम:

महालक्ष्मी मंत्र 8
ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं अर्ह नम: महालक्ष्म्यै
धरणेंद्र पद्मावती सहिते हूं श्री नम:

sarijankari के सभी प्रिय पाठकों को दिवाली की ढेरों शुभकामनाएं!!!
अपने साथ-साथ अपने आस-पास के वातावरण का भी ख्याल रखें !!
Polution free दिवाली मनाये और स्वस्थ रहे…..

करवा चौथ की पूजन विधि और मुहूर्त

करवा चौथ व्रत सुहागन महिलाएं अपने पति के लिए करती हैं इस दिन वो पति की लंबी उम्र की प्रार्थना करती हैं. साथ ही भगवान से अपने सुखी गृहस्थ जीवन के भी लिए प्रार्थना करती हैं.

गुस्सा काबू करने का Top and easy tips

करवा चौथ

इस बार साल 2017 में करवाचौथ का व्रत आठ अक्टूबर(8 October), रविवार को पड़ रहा है.

करवा चौथ के दिन का मुहूर्त(Karwa chauth Ka Muhurt):

करवा चौथ के दिन पूजा का समय शाम 5:55 पर शुरू होगा और शाम 7: 09 पर पूजा करने का महूर्त समाप्त होगा.

चांद देखना जरूरी क्‍यों है (Kab niklega chaand):
इस व्रत के दिन चंद्रमा का उदय शाम आठ बजकर चौदह मिनट पर होगा. इस दिन महिलाएं चंद्रमा को देखे पानी ग्रहण करती हैं. चाँद निकलने के बाद होने के बाद औरतें चाँद को छलनी से  देखती हैं फिर अपने पति का दीदार भी छलनी से ही करती हैं. इसके बाद पति अपनी पत्नियों को पानी पिलाकर उनका व्रत पूरा करते हैं. चाँद को देखे बिना यह व्रत अधूरा माना जाता है.

करवा चौथ करने की विधि :
Karwa chauth का व्रत केवल शादी-शुदा महिलाओं के लिये ही होता है. महिलाएं अपने सास या फिर माँ से करवा चौथ करने की विधि सीखती हैं. लेकिन अगर आप अपने घर से दूर रहती हैं और यह व्रत करना चाहती हैं, इसकी विधि जाननी चाहती हैं तो हम आपको इस व्रत की विधि विस्तार से बताएंगे तो चलिए जानते हैं क्या है करवा चौथ व्रत की सही विधि.

  • सरगी करने के बाद करवा चौथ का निर्जला व्रत शुरु होता है. व्रत के दिन माता पार्वती, महादेव और गणेश जी का ध्‍यान मन में करती रहें.
  • गेरू और पिसे चावलों के घोल से दिवार पर करवा का चित्र बनाएं. चित्र बनाने की इस कला को करवा धरना कहा जाता है जो कि पुरानी परंपरा है.
  • लकड़ी के सिंहासन पर माता पार्वती को स्थापित करें. और उन्हें लाल रंग की चुनरी पहना कर  सुहाग, श्रृंगार की  सामग्री अर्पित करें और माँ कि स्थापित मूर्ति के आगे जल से भरा कलश रखें.
  • व्रत के दिन माँ गौरी और गणेश के स्‍वरूपों की पूजा करें.

करवा चौथ के दिन इस मंत्र का जाप करें:
नमः शिवायै शर्वाण्यै सौभाग्यं संतति शुभाम्‌
प्रयच्छ भक्तियुक्तानां नारीणां हरवल्लभे.

अधिकतर महिलाएं अपने परिवार में प्रचलित प्रथा के अनुसार पूजा करती हैं. हर क्षेत्र  में अपने रिवाज के हिसाब से पूजा करने का विधान है. इसलिये कथा में भी अंतर पाया जाता है.
व्रत के दिन करवा चौथ की कथा कहनी सुननी चाहिए कथा के बाद आपको अपने घर के सभी वरिष्‍ठ लोगों का चरण स्‍पर्श करना चाहिये.
रात के समय छननी के प्रयोग से चाँद का दर्शन करें फिर पति के पैरों को छूकर उनका आर्शिवाद लें बाद में पति को प्रसाद दे कर बाद में खुद भी प्रसाद ग्रहण करें.

सभी दम्पत्तियों को करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनायें!!

Uses of Aloe vera

एलोवेरा के गुण!!!

Aloe vera एक Medical plant है इसका औषधिय गुण ही इसे औरों से अलग बनाता है यह धृतकुमारी के नाम से जाना जाता है.एलोवेरा कांटेदार पत्तियों वाला पौधा होता है इसके अंदर रोग निवारक गुण भरे हैं.

Top tips for height growth

एलोवेरा के गुण

गठिया कारण, बचाव और उपचार

एलोवेरा के जूस को पीने से शरीर में होने वाले पोषक तत्वों की कमी को आसानी से पूरा किया जा सकता है. एलोवेरा में अनेक जड़ी-बूटी के गुण होते है इसलिए इसे अमृत भी बोला जाता है.
एलोवेरा की 400 से ज्यादा प्रजातियां हैं लेकिन इन सब प्रजातियों में से 5 प्रजातियां हीं हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है. वेदों और शास्त्रों में भी इस पौधे के गुणों की चर्चा पायी गयी है. आयुर्वेद के अनुसार एलोवेरा के सेवन से, पेट का रोग, जोडों का दर्द, अल्सर, अम्लपित्त आदि सभी बीमारियां दूर हो जाती हैं. एलोवेरा अपना असर बहुत जल्दी दिखाने लगता है .हम आपको एलोवेरा के बारे में अन्य तथ्य बताने जा रहे हैं.

एनर्जी बढ़ाता है(Energy Booster):
नियमित रूप से Aloe vera  का जूस को पीने से शरीर में energy बनी रहती है. एलोवेरा के जूस में कई तरह के पोषण तत्व, vitamins और Minerals होते है जो Body system को सुधार कर energy देते है. इसे पीने से शरीर की Immunity भी बढ़ जाती है. एलोवेरा के कांटेदार पत्तियों को छीलकर Juice निकाला जाता है. 4 से 5 spoon रस लेने से दिन-भर body में energy बनी रहती है.

बालों और त्वचा की सुंदरता(For Hairs and Skin):
Aloe vera juice के सेवन से skin में निखार आता है. regular taking से आपकी Skin long time तक youthful और  bright रहती है. Aloe vera का जूस पीने से skin की problems Pimples, dry skin, wrinkles,  आखों के काले घेरों को दूर किया जा सकता है. Aloe vera juice बालों के लिए भी फायदेमंद है. इसको पीने से बालों में shining आती है.

पाचन में सहायक(Helpful in digestion) :
Aloe vera में प्रचुर मात्रा में digestive element होते हैं.  इसमें मौजूद Anti-inflimentory गुणों के कारण यह पेट के रोगो में बहुत फायदा करता है. aloe vera juice के नियमित सेवन से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है.

डिटॉक्स जूस(Detox Juice):
एलोवेरा के गुण बहुत सारे हैं , हमारे body में कई तरह के विषैले तत्व skin damage कर body system  पर बुरा प्रभाव डालते हैं. इसलिए बॉडी को डिटॉक्स करने की जरूरत होती है. Aleo vera  एक अच्छा detoxification करने वाला drink है.

वजन कम करें (Helpful in weight loss):
नियमित रूप से Aloe vera juice पीने से बढ़ा वजन कम होता है. digestion system भी दुरूस्त रहता है. Aloe vera juice में कई element होते है जो  body को weak नहीं होने देते.

एलोवेरा के गुण:

  • जलने या शरीर में कहीं चोट लगने एलोवेरा को छिलकर लगाने से आराम मिलता है.
  • जली हुई जगह पर एलोवेरा जेल लगाने से छाले भी नहीं निकलते.
  • aloe vera का रस बालों में लगाने से hairs black, thick और soft हो जाते हैं.
  • aloe vera juice बवासीर और पेट की परेशानियों से निजात दिलाता है.
  • aloe vera का juice पीने से कब्ज की बीमारी दूर होती है.
  • crack heel पर aloe vera लगाने से जल्दी ठीक हो जाती हैं.
  • aloe vera juice blood में Hemoglobin की कमी को पूरा करता है.
  • एलोवेरा का रस मेहंदी में मिलाकर Hair में लगाने से Hair shiny और Healthy होते हैं.

Top tips for height growth

लम्बाई बढ़ाने के आसान उपाय!!!

आजकल हर कोई एक दूसरे से बेहतर करना चाहता है, अच्छा दिखना चाहता है. Tall, Dark और Handsome एक ऐसा सपना है जिसे हर लड़का देखता है, और पाने की कोशिश करता है.लम्बाई बढ़ाने के आसान उपाय

 

How to get long and healthy hair

ऐसा माना जाता है कि लम्बाई genetics पर निर्भर करती है लेकिन यह जरुरी नहीं है कि height सिर्फ अनुवांशिक कारणों पर ही निर्भर करे. मानव शरीर में Height (HGH) Human Growth hormone निर्धारित करती है. HGH को Pituitary gland उत्पादित करती है. यह Bones की लम्बाई और कार्टिलेज के लिए बहुत जरूरी है. कुछ दूसरे कारण भी लम्बाई पर प्रभाव डालते हैं बच्चे का सही पोषण आदि. ऐसा माना जाता है कि 18 साल के बाद Height का बढ़ना मुश्किल होता है लेकिन 18 साल के बाद कुछ Inch तक Height को बढ़ाया जा सकता. अच्छी Height के कई फायदे हैं यह आपके Personality में चार चाँद लगा देती है.
Police हो, Army हो हर जगह Tall Height वालो को हमेशा प्राथमिकता मिलती है. कोई व्यक्ति modelling और Acting में जाना चाहे तो वहां भी Height बहुत आवश्यक पहलू बन जाता है. अच्छी Height से  personality बहुत attractive लगती है. जब तक आपके body मे growth plates बंद नही होती तब तक आपकी height बढने की पूरी संभावना होती है.  Protein और Nutrition न मिलने के कारण हमारे body के विकास पर प्रभाव पड़ता है अगर हम सच में Height बढ़ाना चाहते हैं तो हमें अपने डाइट पर ध्यान देना होगा.

हाइट बढ़ाने के टिप्स(Tips for long height): 


खूब पानी पियें (Drink water):
लम्बाई बढ़ाने के आसान उपाय में पहला नंबर है पानी का , दोस्तों ये सुनने में थोड़ा अजीब लगेगा कि Height से पानी का क्या लेना देना. लेकिन अगर आप सही से पानी पीते हैं, तो आपके शरीर से सभी विषैले तत्व बाहर निकल जाएंगे, और शरीर में रक्त संचार सही से होगा. ऐसा करने पर शरीर का विकास होता है. दिन में 5 से 6 लीटर पानी जरूर पीएं.

पूरी नींद ले(Good Sleep):
नींद कई मर्जों की दवा है एक आम इंसान को तकरीबन 6 से 8 घंटे कि नींद लेनी चाहिए ऐसा करने से शरीर कि मांसपेशियां सही ढंग से काम करना शुरू कर देती हैं. सोते वक्त अपने Body Posture का ध्यान रखें हमेशा सीधे सोये.

नशे से दूर रहे(Keep away from addiction):
कुछ लोग teen age  में ही कई नशे कि चीजों का सेवाएं शुरू कर देते हैं जबकि ऐसा करने से Growth रुक जाती है इसलिए कोशिश करें कि शराब और अन्य तत्वों को हाँथ ना लगाएं Never Use alcohol And Drugs.

तनाव पर नियंत्रण (Control over stress):
Stress कई बीमारियों की जड़ है और तनाव से हमारे विकास में भी बहुत Negative Effect पड़ता है.जब हम stress में होते है तो हमारे body के organs अपना काम करना Slow कर देते है. हमारा दिमाग तनाव में उलझा हुआ होता है और अंगो को कोई आदेश नहीं दे पाता. इससे Height का बढ़ना रूक जाता है.इसलिए tension और stress को अपनी ज़िंदगी से अलविदा कर दें.

सूरज की रोशनी(Sun light):
सूरज की रोशनी Vitamin D का एक अच्छा Source है. vitamin D height बढाने में  सहयोग करता है क्योंकि सूरज की रोशनी से हमारी bones strong  होती है. सुबह और शाम के वक्त सूर्य का प्रकाश लेना फायदेमंद होता है क्योंकि इस समय Ultraviolet Radiation बहुत कम रहता है.

वजन कम करे(weight loss):
आपका Weight ज्यादा है तो अपना weight कम करने की कोशिश करे. इससे  Height तेजी से बढ़ेगी.खुद को fit रखे अगर आपका body fit होगा तो आपके Body की cells अच्छी तरह से अपना कार्य करेंगे. जिससे Height बढ़ने में मदद मिलेगी.

Exercises करे (Do exercise):
Exercises हमारे body को  अच्छा shape देती है और साथ में हमें fit बनाये रखती है. Exercise करके आप लम्बाई बढ़ा सकते है.वैसे तो growth plates बंद होने के बाद height नहीं बढती है लेकिन swimming, biking, yoga  करने आपकी growth plates बंद नहीं होंगी तथा आपकी Height बढती रहेगी. इसलिए Exercise बहुत जरुरी हो जाता है.

stretching वाली exercises करे:
ऐसी exercise करें जिससे आपके बॉडी की stretching हो इससे आपके शरीर के सेल्स पर प्रभाव पड़ेगा और आपकी लम्बाई बढ़ेगी .

  • Basic leg stretches
  • Super stretch and touching toes
  • Cobra stretching
  • Hanging exercise

How to get long and healthy hair

बालों को लम्बा कैसे करें!!!

बालों का अच्छा और स्वस्थ होना सुंदरता में चार चाँद लगा देता है, लोगों को घने Black & Long Hair पसंद आते हैं.

बालों को लम्बा कैसे करें

 

पसीने की बदबू दूर करने के उपाय

दोस्तों आपको बता दें की हमारे बाल protein से बने होते हैं. Black, Thick and long hair के लिए इन्हें पोषण(nutrition) मिलते रहना जरूरी है.

जब हम बालों के पोषण की बात करते हैं तो हमारा सीधा सा मतलब होता है बालों की जड़. मजबूत बालों के लिए बालों की जड़ यानी Scalp को Nutrition मिलते रहना चाहिए.

जड़ों के पोषण के लिए बालों में तेल लगाना शैम्पू करना और हेल्थी डाइट लेना यह सभी आते हैं. इनके अलावा बालों की नियमित साफ- सफाई और उनमें कंघी(Comb) करने से बालों की growth होती है. कहते हैं सफलता का कोई shortcut नहीं होता इसलिए अगर आप अपने बाल लम्बे और घने रखना चाहती हैं तो ऊपर बताये गए टिप्स को जरूर follow करें.

बालों की growth कई कारणों से प्रभावित होती है खान-पान की आदत और अनुवांशिक कारणों का भी बड़ा हाथ होता है. आज हम आपको कुछ अन्य special उपायों के बारें में बताएंगे जिसको आजमाने के बाद आपके बालों में निश्चित तौर पर फर्क नज़र आएगा.

हेल्दी डाइट(Healthy Diet):
बालों को लम्बा कैसे करें में हम आपको पहला नुस्खा बताएंगे इसे अपनाने से आप लम्बे बाल पा सकेंगे .
Long, black and thick बालों के लिए diet में protein, vitamins और minerals का होना बेहद जरुरी है. अपनी diet में वैसे फूड को include करें जिसमें vitamin A, B, C, E के साथ-साथ Iron, Zinc, और सेलेनियम जैसे तत्वों की मात्रा मौजूद हो.

स्कैल्प मसाज(Scalp massage):
बालों और सिर का massage करने से बालों की scalp तक रक्त संचार तेज होता है. इस प्रक्रिया से बालों के बढ़ने की गति में तेजी आती है. बालों में गुनगुना तेल लगाने से भी बहुत फायदा पहुँचता है. तेल लगाकर बालों की पांच मिनट तक massage करें इससे growth होती है.

तनाव मुक्त रहें(Be stress free):
तनाव को भी बालों के झड़ने- गिरने और टूटने के पीछे एक बड़ा कारण माना गया है. ऐसा माना जाता है कि stress की वजह से बालों का जो सामान्य चक्र होता है वह रुक जाता है. इसलिए stress free रहे तनाव मुक्त रहने के लिए आप yoga and meditation आदि कर सकते हैं.

एलोवेरा (ALOE VERA):
एलोवेरा बहुत ही गुणकारी होता है और यह बालों को बढ़ने में मदद करता है. Aloe Vera Gel लगाने से बालों का गिरना कम होता है. यह डैंड्रफ कम करने के साथ ही बालों में shining लाता है. Aloe Vera Gel में  नींबू का रस मिलाकर बालों में लगाएं. इसे हफ्ते में एक दो बार use कर सकते हैं.

इन चीजों को अपने डाइट में करे शामिल(include these in your diet):

दूध(Milk)
पनीर(Paneer)
योगर्ट(Yogurt)
चिकन(Chicken)
अंडा(Egg)
पालक
अंगूर
ब्रोकली
पत्ता गोभी
ओट्स
अखरोट
ताजे फल और हरी सब्जियों के जूस
इन चीजों को डाइट में शामिल करने के बाद आपको अपने बालों से कभी शिकायत नहीं रहेगी.

How to get rid of acidity

आजकल गैस यानी एसिडिटी की समस्या बहुत ही आम हो गयी है इसका सबसे बड़ा कारण है पेट में पाचन रस की ज्यादा या कम मात्रा का निकलना. ऐसा होने पर acidity होती है और पेट में दर्द, गैस, मुंह से बदबू  और जी मिचलाने  जैसी समस्याएं खड़ी हो जाती हैं .

पसीने की बदबू दूर करने के उपाय

acidity

लगातार एसिडिटी की शिकायत रहती है उनको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए यह एक गंभीर समस्या भी हो सकती है . इसकी परेशानी ज्यादा मसालेदार खाना खाने, अनियमित खाने  की आदतें या बहुत ज्यादा stress लेने से भी हो सकता है. कैफीने की ज्यादा मात्रा लेने से भी एसिडिटी की समस्या हो जाती है.

एसिडिटी के कारण और लक्षण (Cause and Symptoms):
Acidity को चिकित्सकीय भाषा में (GERD) Gastroesophageal Reflux Disease भी कहते हैं. अगर पेट की अम्लीयता जैसे रोग पर ध्यान न दिया जाए तो यह पेट के अलसर का रूप ले लेती है इसलिए इसे नज़रअंदाज़ न करें.

एसिडिटी के कारण(cause of acidity):
बदलती हुई lifestyle acidity होने में बहुत मुख्य भूमिका निभाती है जैसे देर रात तक जागना, असमय भोजन करना, तीखा मसालेदार व गरिष्ठ भोजन करना आदि के कारण भी समस्या हो सकती है.

एसिडिटी के लक्षण(Symptoms of acidity):
acidity का लक्षण बहुत सारे हैं जैसे सीने या छाती में जलन होना, साँस लेने में दिक्कत होना, खट्टी डकारे आना, घबराहट और उलटी जैसा महसूस होना, पेट में जलन और दर्द होना, गले में लगातार जलन महसूस होना, पेट फूलना आदि.

तुलसी के पत्ते (Basil Leaves):
तुलसी का पत्ता तुरंत acidity, गैस और उल्टी से राहत देता है. उपचार के लिए कुछ तुलसी के पत्तों को चबा कर खाएं. इसके अलावा आप तुलसी के कुछ पत्तों को पानी में उबालकर, उस पानी को छानकर गुनगुना रहने पर honey मिलाकर पिएं इससे acidity कम होती है

छाछ (Buttermilk):
छाछ यानी की मठ्ठा पीने से acidity में राहत मिलती है. इसमें में पेट की अम्लता को संतुलित करने के लिए lactic acid  पाया जाता है. मेथी के दानों को पानी के साथ मिलाकर paste बना लें, इस pasteको एक गिलास छाछ में मिलाकर पीने से पेट का दर्द ठीक होगा और गैस से भी निजात मिलेगी. बेहतर स्वाद के लिए नमक भी मिला सकतें हैं.

लौंग (Cloves):
लौंग खाने से पेट में Hydrochloric acid की मात्रा बढ़ जाती है जिससे पेट की अम्लता कम होती है और acidity से राहत मिलती है. खाने के बाद 2 से 4 लौंग को मुंह में रखकर हल्का चबाकर चूसें.

जीरा (Cumin):
जीरा एक बेहतरीन Acid Neutralizer है जो acidity को कम करता है. इसके साथ ही digestion power को बढ़ाकर पेट दर्द से राहत देता है. जीरा को भूनकर उसका powder बनाएं. इस powder को खाना खाने के बाद एक गिलास पानी में मिलाकर पिएं.

सौंफ (Fennel):
सौंफ खाने को digestion में सहायता करती है और gas को दूर रखती है. रोज खाना खाने के बाद सौंफ को मुंह में रखकर चबाएं. Fennel के साथ मिश्री भी मिलाई जा सकती है. इससे acidity से राहत मिलती है.